डीयो और परफ्यूम में अंतर (2023 with table) | 15 Difference Between Deodorant and Perfume in Hindi

डीयो और परफ्यूम में अंतर, Difference Between Deodorant and Perfume in Hindi – जब व्यक्तिगत सौंदर्य और अपनी खुशबू बढ़ाने की बात आती है, तो दो सामान्य प्रोडक्ट जो अक्सर दिमाग में आते हैं वे हैं डियोडरेंट और परफ्यूम। जबकि वे दोनों हमें अच्छी महक देने के उद्देश्य से काम करते हैं, दोनों के बीच महत्वपूर्ण अंतर हैं। इन अंतरों को समझने से हमें विशिष्ट आवश्यकताओं और अवसरों के लिए सही प्रोडक्ट चुनने में मदद मिल सकती है।

इस लेख में, हम डिओडोरेंट और परफ्यूम के बीच की असमानताओं का पता लगाएंगे, उनकी रचना, उद्देश्य, अनुप्रयोग, दीर्घायु, और बहुत कुछ पर प्रकाश डालेंगे। इन दो खुशबू से संबंधित प्रोडक्टों की गहरी समझ हासिल करके, आप यह सुनिश्चित करने के लिए सूचित निर्णय ले सकते हैं कि आप हमेशा एक सुखद खुशबू छोड़ते हैं जो आपकी प्राथमिकताओं और जीवन शैली के अनुकूल हो।

डिओडोरेंट क्या होते है (What is Deodorant)

डिओडोरेंट एक पर्सनल केयर प्रोडक्ट है जिसे पसीने और गंध पैदा करने वाले बैक्टीरिया के विकास के कारण शरीर की गंध को नियंत्रित करने और रोकने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह आमतौर पर अंडरआर्म्स पर लगाया जाता है लेकिन इसका उपयोग शरीर के अन्य क्षेत्रों पर भी किया जा सकता है जहाँ पसीना आता है। डिओडोरेंट विभिन्न रूपों में आते हैं जैसे रोल-ऑन, स्टिक्स, स्प्रे या क्रीम।

शरीर की गंध से निपटने के लिए डिओडोरेंट विभिन्न तंत्रों का उपयोग करके काम करते हैं। कुछ डिओडोरेंट्स में जीवाणुरोधी एजेंट होते हैं जो अप्रिय गंध पैदा करने के लिए जिम्मेदार बैक्टीरिया को लक्षित करते हैं। ये एजेंट बैक्टीरिया के विकास को बेअसर या बाधित करने में मदद करते हैं, जिससे उनके कारण होने वाली गंध कम हो जाती है। इसके अतिरिक्त, डिओडोरेंट्स में अक्सर सुगंधित तत्व होते हैं जो किसी भी अवशिष्ट गंध को छिपाने में मदद करते हैं।

इसके अलावा, कई डिओडोरेंट्स में एंटीपर्सपिरेंट गुण भी होते हैं। इनमें एल्युमीनियम क्लोराइड या एल्युमिनियम ज़िरकोनियम जैसे एल्युमीनियम यौगिक होते हैं, जो अस्थायी रूप से पसीने की ग्रंथियों को अवरुद्ध कर देते हैं, जिससे अंडरआर्म क्षेत्र में पसीने की मात्रा कम हो जाती है। यह अंडरआर्म्स को सूखा रखने और शरीर की गंध की संभावना को कम करने में मदद कर सकता है।

डिओडोरेंट्स आमतौर पर दैनिक सौंदर्य दिनचर्या के हिस्से के रूप में उपयोग किए जाते हैं और विशेष रूप से गर्म मौसम में या शारीरिक गतिविधियों के दौरान पसीने का प्रोडक्टन अधिक होने पर उपयोग में लाये होते हैं। वे उन व्यक्तियों के लिए एक सुविधाजनक और व्यावहारिक समाधान प्रदान करते हैं जो पूरे दिन ताजगी बनाए रखना चाहते हैं और शरीर की गंध को नियंत्रित करना चाहते हैं।

ये भी पढ़े – क्या आप लहंगा और घाघरा में अंतर जानते है? (2023 with table) | 11 Difference between Lehenga and Ghagra

परफ्यूम क्या है (What is Perfume)

परफ्यूम एक सुगन्धित तरल प्रोडक्ट है जो शरीर में मनभावन सुगंध जोड़ने के लिए बनाया जाता है। इसका उपयोग पर्सनल ग्रूमिंग के लिए किया जाता है और आमतौर पर त्वचा या कपड़ो पर लगाया जाता है, विशेष रूप से कलाई, गर्दन और कान के पीछे पल्स पॉइंट पर। परफ्यूम विभिन्न रूपों में उपलब्ध हैं, जिनमें स्प्रे, स्पलैश और रोल-ऑन शामिल हैं।

परफ्यूम सुगंधित यौगिकों के मिश्रण से बना होता है, जिसमें आवश्यक तेल, सुगंधित रसायन और फिक्सेटीव शामिल हो सकते हैं। इन यौगिकों को एक विशिष्ट सुगंध प्रोफ़ाइल बनाने के लिए सावधानी से मिश्रित किया जाता है, जिसके परिणामस्वरूप एक अनूठी और विशिष्ट सुगंध उत्पन्न होती है। परफ्यूम में अक्सर शीर्ष, मध्य और आधार नोट होते हैं, शरीर की गर्मी के साथ संपर्क आने पर सुगंध की विभिन्न परतों को प्रकट करते हैं।

परफ्यूम में सुगंधित यौगिकों की कॉन्सनट्रेशन अलग-अलग हो सकती है, जिससे विभिन्न सुगंध वर्गीकरण हो सकते हैं। शुद्ध परफ्यूम में उच्चतम कॉन्सनट्रेशन पाई जाती है, जिसे परफ्यूम (parfum) भी कहा जाता है, जिसमें सबसे तीव्र और लंबे समय तक चलने वाली सुगंध होती है। इसके बाद, ओउ डी परफ्यूम, ओउ डी टॉयलेट, और ओउ डी कोलोन में सुगंधित तेलों की उत्तरोत्तर कम कॉन्सनट्रेशन होती है।

परफ्यूम व्यापक रूप से उनके सौंदर्य और संवेदी अपील के लिए उपयोग किया जाता है। वे लालित्य, विलासिता और व्यक्तिगत अभिव्यक्ति से जुड़े हैं। परफ्यूम भावनाओं को जगा सकता है, स्थायी प्रभाव पैदा कर सकता है और किसी के आत्मविश्वास और मनोदशा को बढ़ा सकता है। यह अक्सर विशेष अवसरों, सामाजिक आयोजनों, या सुगंध और आकर्षण का स्पर्श जोड़ने के लिए किसी के दैनिक दिनचर्या के हिस्से के रूप में लगाया जाता है।

ये भी पढ़े – स्नीकर और स्पोर्ट शूज में अंतर (2023 with table) | 12 Difference Between Sneakers and Sport Shoes

डीयो और परफ्यूम में अंतर (Deo vs Perfume in Hindi)

 

तुलना का आधार
Basis of Comparison

डिओडोरेंट
Deodorant

परफ्यूम
Perfume

किन चीजों से मिलकर बनता है? (Composition)

डिओडोरेंट मुख्य रूप से बैक्टीरिया के कारण होने वाली शरीर की गंध से निपटने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। उनमें एंटीबैक्टीरियल एजेंट और तत्त्व होते हैं जो गंध पैदा करने वाले बैक्टीरिया के विकास को बेअसर या बाधित करते हैं। डिओडोरेंट्स में अक्सर किसी भी गंध को छिपाने के लिए खुशबू भी होती है।

परफ्यूम विशेष रूप से एक आकर्षक खुशबू प्रदान करने के लिए बनाए जाते हैं। उनमें सुगंधित यौगिकों का मिश्रण होता है, जैसे कि आवश्यक तेल, सुगंधित रसायन और फिक्सेटिव। त्वचा पर लगाने पर एक सुखद सुगंध जारी करने के लिए परफ्यूम तैयार किए जाते हैं।

उद्देश्य
(Purpose)

डिओडोरेंट का प्राथमिक कार्य शरीर की गंध को नियंत्रित करना है। यह पसीने और बैक्टीरिया से जुड़ी गंध को कम करने या खत्म करने का काम करता है। डिओडोरेंट अक्सर एंटीपर्सपिरेंट गुण प्रदान करते हैं, पसीने को कम करते हैं और अंडरआर्म्स को सूखा रखते हैं।

परफ्यूम का इस्तेमाल मुख्य रूप से व्यक्तिगत खुशबू को बढ़ाने और एक सुखद खुशबू पैदा करने के लिए किया जाता है। वे पसीने को रोकने या शरीर की गंध को नियंत्रित करने के लिए डिज़ाइन नहीं किए गए हैं, बल्कि लंबे समय तक चलने वाली और आकर्षक सुगंध प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। परफ्यूम आमतौर पर शरीर पर पल्स पॉइंट्स पर लगाया जाता है, जैसे कलाई, गर्दन और कान के पीछे।

कहाँ लगाया जाता है? (Application Area)

डिओडोरेंट आमतौर पर रोल-ऑन, स्टिक्स, स्प्रे या क्रीम के रूप में आते है। यह सीधे अंडरआर्म्स पर लगाया जाता है, क्योंकि यह वह जगह है जहां पसीना और बैक्टीरिया सबसे ज्यादा जमा होते है। मुख्य उद्देश्य पसीने के कारण होने वाली अप्रिय गंध को कम करना या समाप्त करना है।

परफ्यूम विभिन्न रूपों में उपलब्ध है, जिसमें स्प्रे, स्पलैश और रोल-ऑन शामिल हैं। यह त्वचा पर अक्सर नाड़ी बिंदुओं पर लगाया जाता है, जिससे शरीर की गर्मी उत्पन्न होने पर सुगंध धीरे-धीरे फैलतीजाती है। परफ्यूम आमतौर पर इंद्रियों पर हावी होने से बचने के लिए संयम से लगाया जाता है।

कितनी देर तक रहते है (Longevity)

पूरे दिन लंबे समय तक चलने वाली ताजगी और ओडोर कण्ट्रोल (गंध नियंत्रण) प्रदान करने के लिए डिओडोरेंट तैयार किए जाते हैं। हालांकि, उनकी खुशबू कम शक्तिशाली होती है और आमतौर पर परफ्यूम की तुलना में कम अवधि तक रहती है।

परफ्यूम को अधिक स्पष्ट और लंबे समय तक चलने वाली खुशबू के लिए डिज़ाइन किया गया है। परफ्यूम में अधिक तेज़ सुगंधित यौगिक होते हैं, जिससे वे कई घंटों तक त्वचा पर बने रहते हैं। परफ्यूम की एक छोटी मात्रा एक स्थायी छाप बनाने में काफी मदद कर सकती है।

कॉन्सनट्रेशन
(Concentration)

डिओडोरेंट्स में आमतौर पर परफ्यूम की तुलना में खुशबू की मात्रा कम होती है। एक मजबूत और लंबे समय तक चलने वाली गंध प्रदान करने के बजाय मुख्य रूप से शरीर की गंध को बेअसर करने पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।

परफ्यूम में सुगंधित यौगिकों की उच्च कॉन्सनट्रेशन होती है, जो उन्हें अधिक शक्तिशाली और तीव्र बनाती है। सुगंध में परफ्यूम के तेलों की कॉन्सनट्रेशन अलग-अलग हो सकती है, आमतौर पर परफ्यूम में उच्चतम कॉन्सनट्रेशन होती है।

लक्षित क्षेत्र
(Targeted Areas)

उस विशिष्ट क्षेत्र में शरीर की गंध को नियंत्रित करने के लिए डिओडोरेंट का मुख्य रूप से अंडरआर्म्स पर उपयोग किया जाता है। उन्हें शरीर के उन क्षेत्रों पर लगाने के लिए डिज़ाइन किया गया है जहाँ पसीना अधिक आता है।

परफ्यूम को अंडरआर्म्स तक सीमित नहीं, बल्कि शरीर के विभिन्न हिस्सों पर लगाया जा सकता है। समग्र सुखद सुगंध बनाने के लिए उन्हें कलाई, गर्दन, छाती, या कान के पीछे छिड़का जा सकता है

खुशबू रेंज
(Fragrance Range)

डिओडोरेंट्स में आमतौर पर सुगंध विकल्पों की एक सीमित श्रृंखला होती है। वे आम तौर पर ताजा, स्वच्छ, स्पोर्टी या पुष्प जैसी सुगंध प्रदान करते हैं, लेकिन परफ्यूम की तुलना में विविधता अक्सर संकीर्ण होती है।

परफ्यूम सुगंध की एक विस्तृत श्रृंखला में आते हैं, फूलों से लेकर फल, स्पाइसी से वुडी और बीच में सब कुछ लेकर सुगंध का एक विशाल चयन पेश करते हैं। परफ्यूम विकल्पों की विविधता व्यक्तियों को एक ऐसी खुशबू खोजने की अनुमति देती है जो उनकी व्यक्तिगत प्राथमिकताओं और शैली के अनुकूल हो।

सामाजिक व्यवस्था
(Social Settings)

डिओडोरेंट का उपयोग आम तौर पर रोज़मर्रा की स्थितियों के लिए किया जाता है, जैसे कि काम, व्यायाम या आकस्मिक सैर। वे नियमित गतिविधियों के लिए उपयुक्त ताजा और साफ सुगंध प्रदान करते हैं।

परफ्यूम अक्सर अधिक औपचारिक या विशेष अवसरों से जुड़ा होता है, जैसे कि पार्टियां, कार्यक्रम या रोमांटिक आउटिंग। परफ्यूम की मोहक और लंबे समय तक चलने वाली खुशबू सामाजिक सेटिंग में एक यादगार छाप बनाने में मदद करती है।

पैकेजिंग और मार्केटिंग (Packaging and Marketing)

डिओडोरेंट पैकेजिंग अक्सर इसके कार्यात्मक लाभों पर जोर देती है, जैसे कि गंध नियंत्रण और एंटीपर्सपिरेंट गुण। डिओडोरेंट्स के मार्केटिंग अभियान आमतौर पर ताजगी, पसीने से सुरक्षा और सक्रिय जीवन शैली पर ध्यान केंद्रित करते हैं।

प्रोडक्ट की प्रीमियम प्रकृति को दर्शाते हुए परफ्यूम की पैकेजिंग अधिक शानदार और दिखने में आकर्षक होती है। परफ्यूम की मार्केटिंग अक्सर सुगंध से जुड़े भावनात्मक और संवेदी अनुभवों पर जोर देता है, लालित्य, कामुकता और आकर्षण को उजागर करता है।

जेंडर स्पेसिफिक बनाम जेंडर न्यूट्रल
(Gender-specific vs. Gender-neutral)

डिओडोरेंट आमतौर पर जेंडर स्पेसिफिक सुगंधों के साथ मार्किट किया जाता है, जो पुरुषों और महिलाओं को अलग-अलग टारगेट करता है। पुरुषो और महिलाओं की प्राथमिकताओं के हिसाब से अलग अलग डीयो डिज़ाइन किए जाते हैं।

दूसरी ओर, परफ्यूम, अक्सर जेंडर न्यूट्रल या यूनिसेक्स के रूप में मार्किट किया जाता है। जबकि कुछ परफ्यूम पुरुष या महिलाओंसे जुड़े हो सकते हैं, कई सुगंधों को जेंडर की परवाह किए बिना सुगंधों का आनंद लेने के लिए बनाया जाता है।

कार्यक्षमता
(Functionality)

डिओडोरेंट मुख्य रूप से पसीने और बैक्टीरिया के कारण होने वाली शरीर की गंध को रोकने या कम करने पर ध्यान केंद्रित करते हैं। उनका उद्देश्य अप्रिय गंध को बेअसर करना या छिपाना है और पसीने को नियंत्रित करने के लिए एंटीपर्सपिरेंट गुण प्रदान करना है।

परफ्यूम मुख्य रूप से व्यक्तिगत सुगंध को बढ़ाने और सुखद सुगंध बनाने के लिए डिज़ाइन किए जाते हैं। वे शरीर की गंध को नियंत्रित करने या पसीने को कम करने के लिए नहीं बल्कि त्वचा में एक आकर्षक सुगंध जोड़ने के लिए तैयार किए गए हैं।

कपड़ों पर प्रयोग
(Usage on Clothing)

डिओडोरेंट आमतौर पर सीधे त्वचा पर लगाया जाता है, खासकर अंडरआर्म्स पर। उन्हें स्प्रे करने या सीधे कपड़ों पर लगाने का इरादा नहीं है क्योंकि वे अवशेष या दाग छोड़ सकते हैं।

परफ्यूम का छिड़काव शरीर पर या कपड़ों के साथ-साथ त्वचा पर भी लगाया जा सकता है। हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि कुछ परफ्यूम में ऐसे तत्व हो सकते हैं जो कुछ कपड़ों को दाग या नुकसान पहुंचा सकते हैं, इसलिए कपड़ों पर लगाने से पहले एक छोटे, क्षेत्र पर परीक्षण करने की सलाह दी जाती है।

पसीना नियंत्रण
(Sweat Control)

डिओडोरेंट्स में अक्सर एंटीपर्सपिरेंट तत्व होते हैं जो पसीने को कम करने में मदद करते हैं। वे पसीने की ग्रंथियों को अस्थायी रूप से अवरुद्ध करके काम करते हैं, जिससे प्रोडक्टित पसीने की मात्रा कम हो जाती है।

परफ्यूम में प्रतिस्वेदक गुण नहीं होते हैं और पसीने को नियंत्रित करने का लक्ष्य नहीं रखते हैं। वे पूरी तरह से एक सुखद सुगंध प्रदान करने और व्यक्तिगत सुगंध बढ़ाने पर केंद्रित हैं।

कब लगाये जाते है
(Application Time)

डिओडोरेंट आमतौर पर स्नान के बाद या ताजगी और गंध नियंत्रण बनाए रखने के लिए पूरे दिन आवश्यक होने पर लगाए जाते हैं। वे अक्सर सुबह में दैनिक ग्रूमिंग की दिनचर्या के हिस्से के रूप में उपयोग किए जाते हैं।

व्यक्तिगत पसंद के आधार पर परफ्यूम को किसी भी समय लगाया जा सकता है। कुछ व्यक्ति अपनी दिनचर्या के हिस्से के रूप में सुबह में परफ्यूम लगाना पसंद करते हैं, जबकि अन्य इसे विशेष अवसरों या कार्यक्रमों से पहले लगाते हैं।

प्राइस रेंज
(Price Range)

आमतौर पर परफ्यूम की तुलना में डिओडोरेंट अधिक किफायती होते हैं। वे विभिन्न ब्रांडों और फार्मूलेशन में व्यापक रूप से उपलब्ध हैं, जिससे उन्हें बजट की एक विस्तृत श्रृंखला तक पहुँचा जा सकता है।

परफ्यूम, विशेष रूप से उच्च अंत या डिजाइनर सुगंध, सामग्री की गुणवत्ता, एकाग्रता और ब्रांड प्रतिष्ठा के कारण अधिक महंगे होते हैं। वे अक्सर विलासिता की वस्तुओं की श्रेणी में आते हैं।

2023 के बेस्ट डिओडोरेंट

पुरुषो के लिए (For Mens)

S No.

Product Name

Price

1

Nivea Fresh Active Original Deo

Rs. 160

2

Yardley London Gentleman Classic Deodorant Body Spray For Men, 150ml

Rs. 167

3

Nike Up Or Down Silver Deodorant for Men

Rs. 368

4

Nivea Deep Impact Freshness, Deodorant Roll-on for Men

Rs. 145

5

Axe Signature Intense Long Lasting No Gas Deodorant Bodyspray For Men

Rs. 241

6

Brut Deodorant Spray for Men

Rs. 170

7

Axe Signature Dark Temptation No Gas Deodorant Bodyspray For Men

Rs.225

8

Axe Dark Temptation Long Lasting Deodorant Bodyspray For Men 150 ml

Rs. 191

9

 The Man Company Multifaceted No Gas Deodorant Set

Rs. 1,019

10

Nivea Fresh Ocean Deodorant for Men

Rs. 225

महिलाओं के लिए (For Womens)

Top Picks Check Price
Yardley London English Rose Refreshing Deodorant Spray Price On Amazon
Nivea Fresh Natural Deodorant Spray Price On Amazon
Fogg Paradise Fragrant Body Spray For Women Price On Amazon
Enchanteur Romantic Perfumed Deo Spray For Women Price On Amazon
Engage Blush Bodylicious Deodorant For Women Price On Amazon
Fogg Essence Fragrant Body Spray For Women Price On Amazon
NIVEA Fresh Flower Deodorant For Women Price On Amazon
Engage Spell Deodorant For Women Price On Amazon
NIVEA Pearl & Beauty Deodorant For Women Price On Amazon
Dove Original 0% Alcohol Deodorant For Women Price On Amazon

निष्कर्ष (Conclusion)

अंत में, जबकि डिओडोरेंट और परफ्यूम दोनों ही हमारी व्यक्तिगत खुशबू में योगदान करते हैं, वे अलग-अलग उद्देश्यों की पूर्ति करते हैं और अलग-अलग लाभ प्रदान करते हैं। डिओडोरेंट्स मुख्य रूप से बैक्टीरिया और पसीने के कारण होने वाली शरीर की गंध को नियंत्रित करने पर ध्यान केंद्रित करते हैं, पसीने को कम करने के लिए एंटीपर्सपिरेंट गुण प्रदान करते हैं। दूसरी ओर, परफ्यूम व्यक्तिगत सुगंध को बढ़ाने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं, जिससे एक सुखद और लंबे समय तक चलने वाली सुगंध पैदा होती है। वे मनोरम सुगंधों की एक विस्तृत श्रृंखला पेश करते हैं और अक्सर विशेष अवसरों या सामाजिक सेटिंग्स से जुड़े होते हैं।

अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए सही प्रोडक्ट चुनने के लिए डिओडोरेंट और परफ्यूम के बीच के अंतर को समझना आवश्यक है। चाहे आप पूरे दिन गंध नियंत्रण और पसीने की कमी की तलाश कर रहे हों या एक आकर्षक सुगंध के साथ एक स्थायी छाप छोड़ने का लक्ष्य रखते हों, उपयुक्त प्रोडक्ट का चयन करने से आप पूरे दिन आत्मविश्वास और ताजा महसूस करेंगे।

Leave a Comment