8 Difference Between Commercial Bank and Development Bank In Hindi | वाणिज्यिक बैंक और विकास बैंक में क्या अंतर होता है?

8 Difference Between  Commercial Bank and Development Bank In Hindi, Commercial Bank Aur Development Bank Mein Antar In Hindi, वाणिज्यिक बैंक और विकास बैंक में क्या अंतर होता है?

8 Difference Between  Commercial Bank and Development Bank In Hindi, Commercial Bank Aur Development Bank Mein Antar In Hindi, वाणिज्यिक बैंक और विकास बैंक में क्या अंतर होता है? – बैंक हर देश की Financial System में बेहद ज़रूरी भूमिका निभाते हैं। यदि Economy के अंदर Banking System प्रभावी है, तो यह देश के Economic Development को जोड़े रखने में बहुत काम की है। समाज का हर वर्ग अपने अलग-अलग Purposes के लिए बैंकों से प्रदान की जाने वाली तरह-तरह की Services का Use करता ही है।

बैंकों को तीन Categories में बांटा जाता है – सहकारी बैंक (Cooperative Bank) वाणिज्यिक बैंक (Commercial Bank) और विकास बैंक (Development Bank)लेकिन आज के इस Article – 8 Difference Between Commercial Bank and Development Bank In Hindi के अंदर हम वाणिज्यिक बैंक और विकास बैंक के बीच के अंतर पर चर्चा करने वाले हैं, जिससे की आपको इन दोनो ही Terms के बीच के अंतर के बारे में समझ में आ सके, तो आइए शुरु करते हैं।

सबसे पहले हम Difference Between Commercial Bank and Development Bank In Hindi को एक Tabular Form के माध्यम से समझने की कोशिश करेंगे

तुलना सारणी (Comparison Chart) 

 

तुलना का आधार

वाणिज्यिक बैंक / Commercial Bank

विकास बैंक / Development Bank

अर्थ (Meaning) वाणिज्यिक बैंक (Commercial Bank) वे बैंक हैं जो लोगों और कंपनियों को Basic Banking और Financial Services प्रदान करते हैं। विकास बैंक (Development Bank) वे बैंक हैं जिनकी स्थापना Infrastructural और Economic Development के लिए Finance प्रदान करने के लिए की जाती है।
Set Up कैसा होता है? Companies Act के तहत बैंकिंग कंपनियों के रूप में स्थापित है। ये एक Special Act के तहत स्थापित किया गया है।
Funds का Source क्या है? इसमें Public Deposits को Accept करने पर Funds जुटाते हैं इसके अंदर Securities को बेचकर और उधारी देकर Funds को जुटाया जाता है।
Loan प्रदान करना इसके अंदर Short और Medium Term के Loans प्रदान किए जाते हैं। इसमें Medium और Long Term पर Loans प्रदान किए जाते हैं।
Orientation कैसा है? ये लाभ पर केंद्रित होता है ये विकास पर केंद्रित होते हैं।
Purpose क्या है?  High Rate के Interest पर पैसा उधार देकर लाभ कमाना Developmental Projects के लिए धन उपलब्ध कराकर Social Profits को पाना। 
क्या Services Offer होती है? एक निश्चित Fee के लिए कानूनी, Business की सलाह और Credit Investigation सेवा प्रदान की जाती है। Enterprise के विकास और Promotion के लिए Counseling और Advisory सेवा प्रदान की जाती है।
Clients कौन होते हैं?  Individual, और Business की संस्थाएं इसकी Client सरकार होती है।

वाणिज्यिक बैंक किसे कहते हैं | (What Is Commercial Bank In Hindi, Commercial Bank Kise Kehte Hai?)

Commercial Bank, जैसा कि नाम से ही पता चलता है, एक Profit Oriented Financial Institute है जो की लोगों से उनके Deposits Accept करने, Current Account की Services Provide करने, Loan देने और Individuals और Business की Entities को कई तरह के Finance की पेशकश करने के लिए स्थापित किया गया है।

बैंक Depositors और Borrowers के बीच एक प्रकार के Mediator के रूप में काम करते हैं। यह Depositors को कम Rate पर जमा की गई राशि पर ब्याज का भुगतान करता है और उन्हें Borrowers को High Interest Rate पर उधार देता है, जो इसमें शामिल कुछ Risk Factors पर निर्भर करता है। इस तरह Commercial Bank पैसा बनाता है।

जिस दर पर Depositors को Interest दिया जाता है उसे Borrowing Rate कहा जाता है, जबकि जिस Rate पर बैंक Loan Provide करता है उसे Lending Rate कहा जाता है। Borrowing और Lending Rate के बीच के अंतर को ‘Spread‘ कहा जाता है, जो की Profit के बराबर होता है।

लोगों से मिली Deposits न केवल Funds उपलब्ध कराती हैं, बल्कि Liquidity और Safety Provide करने की उनकी जिम्मेदारी भी बढ़ाती हैं, जो उनके Use को सीमित करता है। Commercial Bank मुख्य रूप से Scheduled Banks और Non Scheduled Banks में Divided होते हैं। इसके अलावा, Scheduled Bank Nationalized Banks, State Bank of India और उसकी सहायक कंपनियों, Private Sector के बैंकों और Foreign Banks को कवर करते हैं।

ये भी पढ़े – रिटेल और कॉर्पोरेट बैंकिंग में अंतर?

विकास बैंक किसे कहते हैं (What Is Development Bank, Development Bank Kise Kehte Hai?)

विकास बैंक (Development Bank) एक ख़ास Financial Entity को Refer करता है, जिसे Medium और Long Term Loans Provide करके, Industrial और Agricultural Sector के विकास को प्रोत्साहित करने के लिए Basic Infrastructure की सुविधा Provide करने के लिए स्थापित किया जा रहा है।

यह और कई तरह की Services भी Provide करता है जैसे Shares की Underwriting Investment, Guarantee Operation और Business Entities के लिए Promotion Activities आदि। विकास बैंकों (Development Banks) का Primary Function Capital Intensive Investment Projects के लिए Loan प्रदान करना है, आमतौर पर यह Long Term के लिए होता है, जिसमें की Return का Rate कम होता है।

वाणिज्यिक बैंक और विकास बैंक के बीच मुख्य अंतर क्या हैं? (Key Differences Between Commercial Bank And Development Bank in Hindi)

  • वाणिज्यिक बैंक (Commercial Banks) वे बैंक होते हैं जिनकी स्थापना आम लोगों को Basic Banking Services Provide करने के लिए की जाती है। दूसरी ओर, विकास बैंक Development Banks एक Financial Institute हैं, जो नई कंपनियों और Financial, Agriculture और Industrial Development से संबंधित Projects को Funds Provide करने के लिए स्थापित किए गए हैं।
  • भारत में, Commercial Bank को एक Joint Stock Company के रूप में स्थापित किया जाता है, जिसे बैंकिंग कंपनी कहा जाता है। दूसरी ओर, Development Bank संसद द्वारा Passed Special Act के तहत स्थापित किए जाते हैं।
  • एक विकास बैंक Development Bank Nature के अंदर Proactive है, क्योंकि यह Projects को बढ़ावा देने और नई कंपनियों को विकसित करने में सक्रिय भूमिका निभाता है। इसके Opposite, Commercial Bank Business की Opportunities के संदर्भ में Reactive होते हैं, क्योंकि इसके लिए बैंक योग्यता की आवश्यकता होती है, Entrepreneur का निर्णय लेने के बाद, उसके Idea पर विचार किया जाता है।
  • Commercial Bank Public के Deposit को Accept करके Funds को जुटाते हैं। इसके Opposite, Development Bank उधार, और Securities की Sales से अपने लिए Funds को जुटाते हैं।
  • Commercial Bank Short और Medium Term के लिए Loans Provide करते हैं, जबकि Medium और Long Term Loans विकास बैंकों (Development Banks) द्वारा दिए जाते हैं।
  • Commercial Bank लाभ चाहने वाली Business Entities हैं। दूसरी ओर, Development Banks की स्थापना Development को Encourage करने के लिए की जाती है।
  • Commercial Banks का उद्देश्य High Interest Rate पर Funds को उधार देकर लाभ कमाना है। इसके विपरीत, Development Banks का Goal – Capital Intensive Projects के लिए Funds उपलब्ध कराकर Social Benefit प्राप्त करना है।

निष्कर्ष (Conclusion)

आज के इस Article 8 Difference Between Commercial Bank and Development Bank In Hindi के अंदर हमने आज वाणिज्यिक बैंक और विकास बैंक में क्या अंतर होता है? के बारे में काफी कुछ जानने की कोशिश की, जिसके लिए मैंने आप सभी को Commercial Bank Aur Development Bank Mein Antar In Hindi के लिए 8 ऐसे Difference बताए हैं जिनसे आप इन दोनो ही Terms के बीच के अंतर को और भी अच्छी तरह से समझ पाएंगे।

Leave a Comment