मेंढक और टोड में क्या अंतर होता है? (2023 with table) | 8 Difference Between Frog and Toad in Hindi | Frog aur Toad me antar in Hindi

मेंढक और टोड में क्या अंतर होता है? (2023 with table), 8 Difference Between Frog and Toad in Hindi, Frog aur Toad me antar in Hindi – क्या आप भी जानना चाहते हैं की मेंढक (Frog) और टॉड (Toad) में क्या अंतर होता है? यदि हां तो इनके बारे में जानने के लिए, आइए सबसे पहले इन दोनों ही जानवरों से मैं आपका परिचय करा देता हुं। मेंढक (Frog) और टॉड (Toad) जानवरों के मांसाहारी (Carnivores) समूह के सदस्य होते हैं जो Vertebrates के Amphibians वर्ग से संबंधित हैं। उन्हें जीवित रहने के लिए पानी और नम वातावरण की आवश्यकता होती है, और जो की अपनी पतली त्वचा के माध्यम से सांस भी ले सकते हैं और पानी को अवशोषित (Absorb) भी कर सकते हैं।

Amphibian होने के कारण, उनके पास Double घर, जमीन और पानी होता है और इसमें कुछ विशेष ग्रंथियां (Glands) भी पाए जाती हैं जो उपयोगी प्रोटीन का उत्पादन कर सकती हैं। लेकीन इन दोनों में केवल इन तरह की समानताएं ही नहीं हैं बल्कि काफी तरीके के अंतर भी मौजूद हैं जो की हम आज के इस लेख में जानने वाले हैं तो आइए शुरू करते हैं और सबसे पहले जानते हैं Difference Between Frog And Toad In Tabular Form [HINDI] ताकि इनके बारे में हमें काफी सारी बातें Short में ही पता चल जाए।

तुलना सारणी (Comparison Frog vs Toad in Hindi)

आइए सबसे पहले मैं आपको Frog और Toad के बीच अंतर को एक Tabular Form के माध्यम से समझने की कोशिश करेंगे।

तुलना का आधार  मेंढ़क (Frog) टॉड (Toad)
त्वचा की बनावट मेंढकों (Frogs) की चिकनी, फिसलन भरी और नम त्वचा होती है। टोड (Toad) में कठोर Bumps से बनी खुरदरी, सूखी और रूखी त्वचा होती है।
 दिखावट मेंढक दिखने में दुबले और पतले नजर आते हैं। टोड (Toad) वैसे तो छोटे होते हैं लेकिन मेंढक की तुलना में अधिक भारी होते हैं।
हरकतें मेंढक (Frogs) बहुत ही कम या कभी-कभार ही रेंगते हैं। टोड (Toad) रेंगते हुए ही पाए जाते हैं और इसी तरह वे एक स्थान से दूसरे स्थान पर आवाजाही करते रहते हैं।
अण्डे देने के तरीके मेंढक (Frogs) गुच्छों में अंडे (Eggs) देते हैं। टॉड (Toad) लंबी जंजीरों (Chains) में अंडे देते हैं।
प्राकृतिक वास (Habitat) मेंढक (Frogs) अपने पूरे जीवन में आपको आपके आस-पास के पानी में ही पायें जाएंगे। टोड (Toad) स्थलीय या भूमि क्षेत्रों (Land Areas) में रहने के लिए बहुत अधिक अनुकूलित होते हैं।
जीवनकाल मेंढकों (Frogs) का जीवन काल 16 वर्ष तक का हो सकता है, जबकि जो सबसे पुराने मेंढक होते हैं वे 21 साल तक जीवित पाए जाते हैं। टॉड (Toad) का जीवन काल 10-15 वर्ष होता है, और जबकि बुफो नामक एक सामान्य टॉड 40 साल तक जीवित पाया जाता है।
रंग एक मेंढक (Frogs) की त्वचा काफी भिन्न होती है क्योंकि इसकी 3000 विभिन्न प्रजातियां पाई जाती हैं; और इसका सबसे आम रंग पत्तेदार हरा और मैला भूरा पाया जाता है। टोड (Toad) विभिन्न रंगों के पाए जाते हैं; उनकी पीठ भूरे रंग की काली होती है और उनका पेट पीले भूरे रंग का होता है।
विषाक्तता (Toxicity) कुछ मेंढक (Frogs) अत्यधिक जहरीले होते हैं, और वही सुनहरे रंग (Golden) के मेंढक सबसे जहरीले होते हैं, जो 10 आदमियों को भी मार सकते हैं।  Cane Toads काफी जहरीले होते हैं क्योंकि उनका जहर बिल्लियों और कुत्तों तक को भी मार सकता है।

मेंढक (Frog) किसे कहते हैं (What is Frog in Hindi or Frog kise kehte hai?)

What Do You Mean By A Frog In Hindi – मेंढक (Frogs) जानवरों के एक बड़े मांसाहारी (Carnivores) समूह का एक Amphibian प्राणी होता है, जो की बिना पूंछ वाला और छोटे शरीर वाला होता है। मेंढ़क उष्ण कटिबंध (Tropics) से लेकर उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों (Tropical Regions) में भी पाए जा सकते हैं लेकीन ज्यादातर यह उष्ण कटिबंध (Tropics) में ही पाए जा सकते हैं, मस्से वाले मेंढकों (Frogs) को टोड (Toad) कहा जाता है। ऐसा कहे जाने का यही एक कारण है की, सभी टॉड (Toad) मेंढक (Frog) होते हैं जबकि सभी मेंढक टॉड नहीं होते हैं।

एक Adult मेंढक (Frog) का शरीर बाहर की ओर उभरी हुई आँखों वाला होता है और उसके अंग नीचे मुड़े हुए होते हैं। उनके पास पूर्वकाल (Anterior) से जुड़ी जीभ और ग्रंथियों की त्वचा (Glandular Skin) पाई जाती है। त्वचा से स्राव विषाक्त (Secretion Toxic) और अरुचिकर हो सकता है। Adult मेंढक मीठे पानी और सूखी भूमि में रहते हैं और उनमें से कुछ भूमिगत या स्थलीय रहने के लिए अनुकूलित भी होते हैं।

टोड (Toad) किसे कहते हैं? (What is Toad in Hindi or Toad kise kehte hai?)

What Do You Mean By A Toad In Hindi – टॉड (Toad) Bufonidae परिवार का एक Amphibian जानवर है जिसकी छोटी टांगों और धक्कों (जिसे मस्से भी कहा जाता है) के साथ सूखी और चमड़े की त्वचा होती है जो (Parotoid Glands) को कवर करती है। मेंढकों (Frogs) की तुलना में, एक टॉड (Toad) स्थलीय आवास (Terrestrial Habitat) में पाया जाता है,

और इसकी त्वचा (Skin) अधिक Dry और खुरदरी होती है। टॉड (Toad) को प्रजनन (Breeding) और गैर-प्रजनन क्षेत्रों (Non-Breeding Areas) सहित तालाबों और झीलों के सभी क्षेत्रों की यात्रा करने के लिए जाना जाता है।

वे कभी भी अपने करीबी रिश्तेदारों के साथ संभोग नहीं करते हैं और महिलाएं पुरुष के स्वरों में अंतर से अपने रिश्तेदारों को पहचानती हैं। एक टॉड (Toad) भी उसी क्रम का Anura (Tailless) से Belong करता है जिससे की एक मेंढक (Frog) Belong करता है।

मेंढक (Frog) और टोड (Toad) के बीच मुख्य अंतर क्या हैं? (Key Differences Between Frog And Toad In Hindi)

  • मेंढक (Frog) और टोड (Toad) कभी भी एक जैसे नहीं घूमते। मेंढक कूदने की प्रवृत्ति रखते हैं, जो उनके लिए आसान होता है क्योंकि उनके पैर इतने लंबे होते हैं। वही टॉड (Toad) रेंगने से इधर-उधर हो जाते हैं, क्योंकि उनके बहुत छोटे पैर होते हैं जो की कूदने के लिए नहीं बने होते हैं।
  • मेंढक (Frog) टोड (Toad) की तुलना में दिखने में बहुत ही दुबले होते हैं। उन्हें अक्सर Athletic दिखने वाले जानवरों के रूप में वर्णित किया जाता है। टॉड दिखने में Squat होते हैं। उन्हें कभी-कभी डंपी (Dumpy) दिखने वाला भी बताया जाता है।
  • मेंढकों के पैर टोड की तुलना में बहुत लंबे होते हैं। एक मेंढक के पैर वास्तव में जानवर के सिर और शरीर की संयुक्त लंबाई से अधिक लंबे होते हैं। जबकि टोड के बहुत ही छोटे और टेढ़े-मेढ़े पैर होते हैं।
  • मेंढक (Frog) और टोड (Toade) एक ही रंग के नहीं होते। मेंढक टॉड की तुलना में अधिक चमकीले रंग के होते हैं। अधिकांश सामान्य मेंढक चमकीले हरे या पीले-हरे रंग के होते हैं, हालांकि कुछ का रंग भूरा-हरा भी पाया जाता है। वही दूसरी ओर टोड (Toad) गहरे हरे या जैतून के हरे रंग की Dull Shade होते हैं।
  • मेंढक (Frog) की Skin दिखने में काफी चिकनी होती है। जबकि एक Toad की Skin ऊबड़ खाबड़ होती है। मेंढकों की तुलना में टॉड की Skin भी काफी मोटी पाई जाती है।
  • मेंढकों (Frogs) की Skin काफी नम होती है जिसे कभी-कभी Feel करने पर Slimy बताया जाता है। वहीं दूसरी ओर टॉड की Skin आमतौर पर बिल्कुल भी नम नहीं होती है। बल्की इसकी Skin हमे सूखी ही पाई जाती है।
  • मेंढक (Frog) पानी पर रहते हैं। लेकीन वे केवल अपना 100 प्रतिशत समय भी पानी में ही नहीं रहते हैं। बल्की जब वे जमीन पर जाने के लिए पानी को छोड़ देते हैं, तब भी वे पानी से ज्यादा दूर नहीं जाते। जबकि टोड (Toad) जमीन पर रहते हैं। वे पानी में भी चले जा सकते हैं, लेकिन वे वहाँ नहीं रहते। क्योंकी टॉड (Toad) अपना अधिकांश समय जमीन पर बिताते हैं, इसलिए वे पानी के करीब ही रहते हैं।

ये भी पढ़े – शाकाहारी और मांसाहारी में अंतर

निष्कर्ष (Conclusion Difference Between Frog and Toad)

मेंढक (Frog) और टोड (Toad) में क्या अंतर होता है? यह अब काफी स्पष्ट हो चुका है और अब दोनों को अलग करना काफी ज्यादा आसान भी है। हालांकि, सभी मेंढक (Frogs) और टोड (Toad) को अलग करना आसान नहीं है क्योंकि दोनों एक दूसरे की विशेषताओं को प्रदर्शित करते हैं। आज के इस लेख Difference Between Frog And Toad In Hindi में हमने समझा की, मेंढ़क (Frogs) ऐसे होते हैं जिनकी Skin चिकनी और नम होती है और वहीं टॉड (Toad) जिनकी त्वचा (Skin) ऊबड़-खाबड़ और सूखी पाई जाती है।

मैं उम्मीद करता हूं की आपको इस लेख में बताई गई सभी बातें अच्छी तरह से समझ में भी आ ही गई होंगी, आप अपनी राय या कोई भी सवाल मुझसे Comment करके भी जरूर पूछ सकते हैं, मैं आपके सवालों के ठीक-ठीक जवाब देने का पूरा प्रयत्न करूंगा।

Leave a Comment