क्लाउड कंप्यूटिंग और इन्टरनेट में अंतर (2023 with table) | 10 Difference Between Cloud Computing and Internet | Cloud Computing vs Internet

क्लाउड कंप्यूटिंग और इंटरनेट के बीच अंतर (Difference Between Cloud Computing and Internet या Cloud Computing vs Internet) को समझना डिजिटल दुनिया के दो आवश्यक हिस्सों के बीच अंतर करने जैसा है। इंटरनेट कंप्यूटर और स्मार्टफोन जैसे परस्पर जुड़े उपकरणों का एक विशाल नेटवर्क है, जो पूरी दुनिया में फैला हुआ है। यह सभी ऑनलाइन संचार की नींव है, जो हमें वेबसाइटों तक पहुंचने, ईमेल भेजने और दुनिया भर के लोगों से जुड़ने की अनुमति देता है। इसकी कल्पना उन सड़कों और राजमार्गों के रूप में करें जो शहरों को जोड़ते हैं, जिससे विभिन्न गंतव्यों तक पहुंचना संभव हो जाता है।

दूसरी ओर, क्लाउड कंप्यूटिंग एक शक्तिशाली उपकरण है जो सरल संचार से परे सेवाएं प्रदान करने के लिए इंटरनेट पर निर्भर करता है। यह इंटरनेट पर विशेष कंप्यूटर और सॉफ़्टवेयर किराए पर लेने जैसा है, जो हमें भौतिक उपकरण के बिना डेटा स्टोर करने, एप्लिकेशन चलाने और कार्य करने में सक्षम बनाता है। इसे उन सेवाओं और इमारतों के रूप में सोचें जिनका आपको उन इंटरनेट राजमार्गों के रास्ते में सामना करना पड़ता है।

सीधे शब्दों में कहें तो, जबकि इंटरनेट ऑनलाइन इंटरैक्शन के लिए बुनियादी ढांचा और रास्ते प्रदान करता है, क्लाउड कंप्यूटिंग सेवाओं और संसाधनों का टूलबॉक्स है जिसे हम इस डिजिटल परिदृश्य के माध्यम से यात्रा करते समय एक्सेस कर सकते हैं। उनके भेदों को बेहतर ढंग से समझने के लिए, आइए हमारे डिजिटल युग के इन दो अभिन्न घटकों के बीच कुछ प्रमुख अंतरों पर गौर करें।

क्लाउड कंप्यूटिंग क्या है? (What is Cloud Computing)

क्लाउड कंप्यूटिंग इंटरनेट पर एक सुपरचार्ज्ड कंप्यूटर और सॉफ्टवेयर किराए पर लेने जैसा है। अपने स्वयं के कंप्यूटर सिस्टम को खरीदने और बनाए रखने के बजाय, जब भी आपको आवश्यकता हो, आप इन शक्तिशाली संसाधनों तक पहुंच सकते हैं।

कल्पना कीजिए कि आपके पास एक बड़ा प्रोजेक्ट है, जैसे किसी मूवी का संपादन करना या ढेर सारे डेटा का विश्लेषण करना। क्लाउड कंप्यूटिंग के साथ, आप Amazon, Google, या Microsoft जैसे प्रदाता से तुरंत वर्चुअल कंप्यूटर उधार ले सकते हैं। आपको हार्डवेयर, बिजली, या तकनीकी सहायता के बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है – इन सबका ध्यान क्लाउड देने वाली कंपनी द्वारा रखा जाएगा।

क्लाउड कंप्यूटिंग विभिन्न सेवाएँ प्रदान करता है:

  1. इन्फ्रास्ट्रक्चर एक सर्विस के रूप में (Infrastructure as a Service, IaaS) – यह आपके सॉफ़्टवेयर को चलाने के लिए एक वर्चुअल मशीन किराए पर लेने जैसा है।
  2. प्लेटफ़ॉर्म एक सेवा के रूप में (Platform as a Service, PaaS) – यह आपके ऐप डेवलपमेंट के लिए उपयोग के लिए तैयार एनवायरनमेंट की तरह है।
  3. सॉफ़्टवेयर एक सेवा के रूप में (Software as a Service, SaaS) – यह इंटरनेट पर Google Docs या Microsoft 365 जैसे सॉफ़्टवेयर का उपयोग करने जैसा है।

सबसे अच्छी बात ये है कि, आप केवल उसी के लिए भुगतान करते हैं जिसका आप उपयोग करते हैं। जब आपका काम पूरा हो जाए, तो आप वर्चुअल कंप्यूटर वापस कर दें। यह फ्लेक्सिबल और कास्ट इफेक्टिव (लागत प्रभावी) है, और व्यवसायों और व्यक्तियों को स्वयं इसे प्रबंधित करने की परेशानी के बिना अविश्वसनीय कंप्यूटिंग शक्ति तक पहुंचने की अनुमति देता है। चाहे वह स्टोरेज के लिए हो, एप्लिकेशन चलाने के लिए हो, या डेटा संसाधित करने के लिए हो, क्लाउड कंप्यूटिंग प्रौद्योगिकी को सभी के लिए सुलभ और स्केलेबल बनाता है।

ये भी पढ़े –

इंटरनेट क्या है (What is Internet)

इंटरनेट एक विशाल, वैश्विक पुस्तकालय की तरह है जो सभी प्रकार की सूचना, मनोरंजन और संचार उपकरणों से भरा है। यह एक नेटवर्क है जो दुनिया भर में कंप्यूटर, फोन और टैबलेट जैसे अरबों उपकरणों को जोड़ता है।

इसे राजमार्गों के एक विशाल जाल के रूप में सोचें जहां कारों के बजाय डेटा यात्रा करता है। जब आप ऑनलाइन होते हैं, तो आपका उपकरण इस वेब से जुड़ जाता है, जिससे आप वेबसाइटों तक पहुंच सकते हैं, संदेश भेज सकते हैं, वीडियो देख सकते हैं और बहुत कुछ कर सकते हैं।

वेबसाइटें इस लाइब्रेरी की किताबों की तरह हैं, जिनमें से प्रत्येक की अपनी अनूठी सामग्री है। आप अपने ब्राउज़र में वेब पते (यूआरएल) टाइप करके इन “पुस्तकों” (वेबसाइटों) का पता लगा सकते हैं।

इंटरनेट केवल वेबसाइटों के बारे में नहीं है; यह लोगों से जुड़ने का एक तरीका भी है। आप सोशल मीडिया पर दोस्तों के साथ चैट कर सकते हैं, ईमेल भेज सकते हैं, या यहां तक कि दुनिया के दूसरी तरफ के लोगों के साथ वीडियो कॉल भी कर सकते हैं।

यह वैश्विक नेटवर्क 24/7 काम करता है, जिससे आप कभी भी, कहीं भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और दूसरों से जुड़ सकते हैं। इसने हमारे सीखने, काम करने, खरीदारी करने और संचार करने के तरीके को बदल दिया है, जिससे यह हमारे दैनिक जीवन का अभिन्न अंग बन गया है। तो, सरल शब्दों में, इंटरनेट एक असीमित पुस्तकालय और संचार का एक सुपर हाइवे की तरह है जो दुनिया को एक साथ लाता है।

ये भी पढ़े – कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग और आईटी में अंतर (2023 with table) | 10 Difference Between CSE and IT in Hindi

क्लाउड कंप्यूटिंग और इन्टरनेट में अंतर (Cloud Computing vs Internet in Hindi)

तुलना का आधार
Basis of Comparison

क्लाउड कंप्यूटिंग

Cloud Computing

इन्टरनेट

Internet

उद्देश्य (Purpose)

क्लाउड कंप्यूटिंग एक ऐसी तकनीक है जो आपको डेटा को संग्रहीत और प्रबंधित करने, एप्लिकेशन चलाने और कार्य करने के लिए रिमोट कंप्यूटर का उपयोग करने देती है।

इंटरनेट आपस में जुड़े कंप्यूटरों का एक वैश्विक नेटवर्क है जो आपको जानकारी और सेवाओं तक पहुंचने और साझा करने की अनुमति देता है।

कार्य प्रणाली (Function)

क्लाउड कंप्यूटिंग स्टोरेज, कंप्यूटिंग पावर और सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन जैसी सेवाएं प्रदान करता है।

इंटरनेट एक बुनियादी ढांचा है जो उपकरणों को जोड़ता है और उन्हें कम्यूनिकेट करने में सक्षम बनाता है।

स्वामित्व (Ownership)

क्लाउड कंप्यूटिंग सेवाएँ Amazon, Google और Microsoft जैसी और भी अलग अलग कंपनियों द्वारा प्रदान की जाती हैं।

इंटरनेट कोई एक इकाई या संपूर्ण इंटरनेट का स्वामी या नियंत्रण नहीं रखती; यह एक विकेन्द्रीकृत नेटवर्क (decentralized network) है.

एक्सेसीबिलिटी (Accessibility)

क्लाउड कंप्यूटिंग में क्लाउड सेवाओं तक पहुंचने के लिए इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता होती है।

इंटरनेट एकअंतर्निहित नेटवर्क है जो सभी ऑनलाइन कम्युनिकेशन को सक्षम बनाता है।

स्टोरेज (Storage)

क्लाउड कंप्यूटिंग क्लाउड प्रदाताओं के स्वामित्व वाले सर्वर पर रिमोट डेटा स्टोरेज प्रदान करता है।

इंटरनेट स्वयं स्टोरेज प्रदान नहीं करता; यह डेटा ट्रांसफर का एक माध्यम है.

उपयोग (Usage)

क्लाउड कंप्यूटिंग वेबसाइटों को होस्ट करने, एप्लिकेशन चलाने और डेटा को स्टोर करने के लिए उपयोग किया जाता है।

इंटरनेट वेबसाइट ब्राउज़ करने, ईमेल भेजने और ऑनलाइन संसाधनों तक पहुंचने के लिए उपयोग किया जाता है।

लागत (Cost)

क्लाउड कंप्यूटिंग में आम तौर पर सदस्यता शुल्क या भुगतान के अनुसार मूल्य निर्धारण शामिल होता है।

इंटरनेट इंटरनेट तक पहुंच अक्सर आईएसपी (इंटरनेट सेवा प्रदाता) द्वारा शुल्क लेकर प्रदान की जाती है।

सुरक्षा (Security)

क्लाउड कंप्यूटिंग में क्लाउड प्रदाता अपनी सेवाओं को सुरक्षित रखने के लिए जिम्मेदार हैं।

इंटरनेट में सुरक्षा उपाय अलग-अलग होते हैं लेकिन आम तौर पर ये व्यक्तिगत उपयोगकर्ताओं और वेबसाइट मालिकों की जिम्मेदारी होती है।

स्केलेबिलिटी (Scalability)

क्लाउड कंप्यूटिंग में मांग के आधार पर संसाधनों को आसानी से घटाया या बढ़ाया जा सकता है।

इंटरनेट स्वयं से स्केल नही होता हैै; यह उस पर होस्ट की गई सेवाएँ और वेबसाइटें हैं जो ऐसा कर सकती हैं।

उदाहरण (Examples)

क्लाउड कंप्यूटिंग की बात की जाये तो Amazon Web Services (AWS), Google Cloud और Microsoft Azure जैसी सेवाएँ है।

इंटरनेट के उदाहरणों में Google, Facebook और YouTube जैसी वेबसाइटें शामिल हैं।

निष्कर्ष (Conclusion of Difference Between Cloud Computing and Internet)

निष्कर्षतः, क्लाउड कंप्यूटिंग और इंटरनेट के बीच अंतर मौलिक हैं फिर भी हमारी डिजिटल दुनिया में समझने के लिए महत्वपूर्ण हैं। इंटरनेट परस्पर जुड़े उपकरणों के वैश्विक नेटवर्क के रूप में कार्य करता है, जो संचार, सूचना साझाकरण और वैश्विक कनेक्टिविटी को सक्षम बनाता है। यह आवश्यक बुनियादी ढांचा है जो हमें वेबसाइटों तक पहुंचने, दूसरों के साथ संवाद करने और ऑनलाइन संसाधनों तक पहुंचने की अनुमति देता है।

दूसरी ओर, क्लाउड कंप्यूटिंग इस आधार पर आधारित है, जो स्टोरेज, प्रोसेसिंग पावर और सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन जैसी विशेष सेवाएं प्रदान करती है। यह डिजिटल संसाधनों के एक टूलकिट की तरह है जिसे हम इंटरनेट के माध्यम से उपयोग कर सकते हैं। अपने स्वयं के कंप्यूटिंग बुनियादी ढांचे के स्वामित्व और रखरखाव के बजाय, हम क्लाउड प्रदाताओं द्वारा होस्ट किए गए दूरस्थ सर्वर और सॉफ़्टवेयर की क्षमताओं का उपयोग कर सकते हैं।

इन अंतरों को समझना आवश्यक है क्योंकि ये हमारे दैनिक जीवन में प्रौद्योगिकी के उपयोग के तरीके को आकार देते हैं। इंटरनेट हमें डिजिटल दुनिया से जोड़ता है, जबकि क्लाउड कंप्यूटिंग हमें उस दुनिया के भीतर शक्तिशाली उपकरणों और सेवाओं का लाभ उठाने का अधिकार देता है। साथ में, उन्होंने हमारे काम करने, संचार करने और जानकारी तक पहुंचने के तरीके में क्रांति ला दी है।

इन अंतरों को पहचानकर, हम तेजी से परस्पर जुड़े और डेटा-संचालित युग में अपनी व्यक्तिगत और व्यावसायिक जरूरतों को पूरा करने के लिए इंटरनेट और क्लाउड कंप्यूटिंग दोनों का सर्वोत्तम उपयोग कैसे करें, इसके बारे में सूचित निर्णय ले सकते हैं।

Leave a Comment