मियोनीज़ और व्हाइट सॉस में अंतर (2023 with table) | 18 Difference Between Mayonnaise and White Sauce in Hindi

मियोनीज़ और व्हाइट सॉस में अंतर, Difference Between Mayonnaise and White Sauce – मियोनीज़ और व्हाइट सॉस दो लोकप्रिय सॉस हैं जो अक्सर खाना पकाने में उपयोग किए जाते हैं और व्यंजन में एक क्रीमी और स्वादिष्ट तत्व जोड़ते हैं। ये दोनों देखने में और टेक्सचर में एक जैसे लग सकते है, लेकिन मियोनीज़ और सफेद सॉस के बीच महत्वपूर्ण अंतर हैं जो उन्हें अलग करते हैं।

अपने व्यंजनों के स्वाद को बढ़ाने के लिए सही सामग्री का चयन करने के लिए इन अंतरों को समझना महत्वपूर्ण है। इस लेख में, हम मियोनीज़ और व्हाइट सॉस के बीच की असमानताओं का पता लगाएंगे, जिसमें उनकी सामग्री, स्वाद, पाक अनुप्रयोग और बहुत कुछ शामिल हैं। तो, आइए पता लगाएँ और उन अनूठी विशेषताओं को उजागर करें जो इन मसालों में से प्रत्येक को अपने आप में विशेष बनाती हैं।

मियोनीज़ क्या है (What is Mayonnaise)

मियोनीज़ क्या होता है – मियोनीज़ गाढ़ा और क्रीमी सॉस की तरह दिखने वाला होता है जो आमतौर पर विभिन्न रसोई की डिशो में उपयोग किया जाता है। यह आम तौर पर तेल, अंडे की जर्दी, सिरका या नींबू का रस, और सीज़निंग को इमलसीफ़ाय करके बनाया जाता है।

तेल और अंडे की जर्दी को धीरे-धीरे मिलाया जाता है, जबकि एक स्थिर पायस बनाने के लिए सिरका या नींबू का रस धीरे-धीरे मिलाया जाता है। अतिरिक्त सामग्री जैसे सरसों, नमक और चीनी को अक्सर स्वाद बढ़ाने के लिए शामिल किया जाता है।

मियोनीज़ में एक खट्टा और थोड़ा अम्लीय स्वाद के साथ एक चिकनी और समृद्ध बनावट होती है। यह एक बहुमुखी प्रसार, ड्रेसिंग या डिप के रूप में कार्य करता है और इसका उपयोग कई प्रकार के व्यंजनों में किया जाता है। यह सैंडविच, बर्गर और रैप्स में क्रीमीनेस और नमी जोड़ता है। सलाद की ड्रेसिंग में यह एक प्रमुख घटक होता है, उदहारण के लिए कोलस्लाव या आलू का सलाद। मियोनीज़ को विभिन्न वरीयताओं के अनुरूप विभिन्न जड़ी-बूटियों, मसालों या स्वादों के साथ भी अनुकूलित किया जा सकता है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि मियोनीज़ को इसकी ताजगी और गुणवत्ता बनाए रखने के लिए रेफ्रिजरेट किया जाना चाहिए। व्यावसायिक रूप से उपलब्ध मियोनीज़ व्यापक रूप से उपलब्ध है, लेकिन कुछ सरल सामग्री के साथ घर का बना संस्करण भी तैयार किया जा सकता है। विभिन्न आहार वरीयताओं और जरूरतों को पूरा करने के लिए मियोनीज़ की कुछ विविधताएं, जैसे कि शाकाहारी या कम वसा वाले विकल्प भी बाजार में उपलब्ध हैं।

कुल मिलाकर, मियोनीज़ एक लोकप्रिय मसाला है जो कई व्यंजनों को एक क्रीमी और खट्टा तत्व प्रदान करता है, जिससे यह दुनिया भर के कई व्यंजनों में एक प्रिय स्टेपल बन जाता है।

ये भी पढ़े –

व्हाइट सॉस क्या है (What is White Sauce)

व्हाइट सॉस क्या होता है – व्हाइट सॉस, जिसे बेकमेल सॉस के रूप में भी जाना जाता है, एक बहुमुखी और क्रीमी सॉस होता है जो बहुत सारी रेसिपीस के आधार के रूप में कार्य करता है। इसे रूक्स को दूध और मसालों के साथ मिलाकर बनाया जाता है। मक्खन और मैदा को बराबर भागों में तब तक पकाकर एक रूक्स बनाया जाता है जब तक कि वे एक चिकना पेस्ट न बना लें।

व्हाइट सॉस तैयार करने के लिए रूक्स को गर्म दूध से धीरे-धीरे तब तक फेंटा जाता है जब तक कि मिश्रण गाढ़ा होकर चिकना न हो जाए। स्वाद बढ़ाने के लिए सॉस को नमक, काली मिर्च और कभी-कभी जायफल के साथ सीज किया जाता है। इसकी तैयारी में उपयोग किए जाने वाले रूक्स और दूध की मात्रा को नियंत्रित करके सॉस की स्थिरता को समायोजित किया जाता है।

व्हाइट सॉस में एक चिकनी और मखमली बनावट होती है, जो विभिन्न व्यंजनों के लिए एक समृद्ध तत्व प्रदान करती है। यह पास्ता, कैसरोल, ग्रैटिन और स्वादिष्ट पाई जैसे व्यंजनों के लिए बहुमुखी आधार के रूप में कार्य करता है। विभिन्न प्रकार के स्वादिष्ट व्यंजन बनाने के लिए व्हाइट सॉस को पनीर, जड़ी-बूटियों, लहसुन, या अन्य स्वादों के साथ जोड़ा जाता है।

सॉस को अक्सर पास्ता को कोट करने के लिए प्रयोग किया जाता है, जो मैकरोनी और पनीर जैसे क्लासिक व्यंजनों की नींव के रूप में काम करता है। इसे लसगना, मूसका और अन्य बेक्ड डिशेस (पके हुए व्यंजनों) में भी शामिल किया जाता है, जिससे डिश में एक क्रीमी परत मिलती है। इसके अलावा, सफेद सॉस का उपयोग सब्जियों के लिए टॉपिंग के रूप में या स्वादिष्ट पाई और पेस्ट्री में फिलिंगके रूप में किया जा सकता है।

व्हाइट सॉस फ्रेंच और इतालवी व्यंजनों में एक मुख्य इंग्रेडीयेन्ट होता है, और जैसा की बताया की ये बहुत सारी डिशो में मुख्य तौर पर डाला जाता है, इसी कारन ये बहुत सारी पाक परंपराओं में शामिल हो कर उनके स्वाद में चार चाँद लगा देता है।

ये भी पढ़े –

मियोनीज़ और व्हाइट सॉस में अंतर (Mayonnaise vs White Sauce in Hindi)

तुलना का आधार
Basis of Comparison

मियोनीज़
Mayonnaise

व्हाइट सॉस
White Sauce

सामग्री
(Ingredients)

मियोनीज़ मुख्य रूप से अंडे की जर्दी, तेल, सिरका या नींबू के रस और सीज़निंग से बनाया जाता है।

दूसरी ओर, व्हाइट सॉस, जिसे बेचमेल सॉस के रूप में भी जाना जाता है, मक्खन, मैदा और दूध से बनाया जाता है।

आधार
(Base)

मियोनीज़ तेल आधारित होता है

जबकि सफेद सॉस दूध आधारित है।

बनावट
(Texture)

मियोनीज़ में एक मोटी और मलाईदार बनावट या टेक्सचर होती है

जबकि सफेद सॉस का टेक्सचर चिकनी होता है।

इमल्शन
(Emulsion)

मियोनीज़ तेल और पानी का एक इमल्शन है, जो इसे एक स्थिर मलाईदार स्थिरता देता है।

व्हाइट सॉस एक पायस नहीं है बल्कि मक्खन, आटा और दूध का संयोजन है।

स्वाद
(Flavor)

सिरका या नींबू के रस के कारण मियोनीज़ में एक तीखा और थोड़ा अम्लीय स्वाद होता है।

व्हाइट सॉस में जायफल या अन्य सीज़निंग के कारण मक्खन जैसा स्वाद होता है।

पाक संबंधी उपयोग
(Culinary uses)

मियोनीज़ का उपयोग आमतौर पर सैंडविच स्प्रेड, सलाद ड्रेसिंग, या सॉस और डिप्स के लिए आधार के रूप में किया जाता है।

व्हाइट सॉस का उपयोग अक्सर पास्ता व्यंजन, लसग्ना, पुलाव और विभिन्न क्रीमी सॉस के आधार के रूप में किया जाता है।

पकाने की विधि
(Cooking method)

मियोनीज़ आमतौर पर सामग्री को एक साथ मिला कर या मिश्रित करके तैयार किया जाता है।

व्हाइट सॉस में मक्खन को पिघलाना, रूक्स बनाने के लिए मैदा मिलाना, और फिर धीरे-धीरे दूध मिलाते हुए एक चिकना सॉस बनाना शामिल है।

स्थिरता
(Stability)

मियोनीज़ में एक स्थिर कंसिस्टेंसी होती है और इसे बिना अलग किए लंबी अवधि के लिए रेफ्रिजरेट किया जा सकता है।

अगर बहुत देर तक छोड़ दिया जाए तो व्हाइट सॉस अलग हो सकता है या परत बना सकता है।

गर्मी सहनशीलता
(Heat tolerance)

मियोनीज़ उच्च तापमान खाना पकाने के लिए उपयुक्त नहीं है क्योंकि यह टूट कर अलग हो सकता है।

व्हाइट सॉस को उच्च तापमान पर पकाया जा सकता है और बेक्ड डिशो में एक घटक के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

मोटाई/थिकनेस
(Thickness)

मियोनीज़ सफेद सॉस की तुलना में स्वाभाविक रूप से गाढ़ा होता है और अन्य सामग्री के साथ मिश्रित होने पर भी इसकी स्थिरता बनाए रखता है।

सफेद सॉस में आटे और दूध की मात्रा को बदलकर इसकी थिकनेस एडजस्ट की जा सकती है।

रंग
(Color)

मियोनीज़ आमतौर पर ऑफ-व्हाइट या क्रीमी रंग का होता है

जबकि व्हाइट सॉस, जैसा कि नाम से पता चलता है, सफेद रंग का होता है।

शेल्फ लाइफ
(Shelf life)

व्हाइट सॉस की तुलना में मियोनीज़ की शेल्फ लाइफ लंबी होती है। अपने सिरका या नींबू के रस की सामग्री के कारण, मियोनीज़ प्रीज़रवेटिव के रूप में कार्य करता है और रेफ्रिजरेटर में कई हफ्तों तक बिना ख़राब हुए चल सकता है।

व्हाइट सॉस की शेल्फ लाइफ कम होती है और कुछ दिनों के भीतर इसका सेवन करना सबसे अच्छा होता है।

शाकाहारी / शाकाहारी विकल्प (Vegan/Vegetarian options)

मियोनीज़ को पौधे-आधारित सामग्री के साथ बनाया जा सकता है, जैसे सोया या अन्य वनस्पति तेलों से बने वेज मियोनीज़।

व्हाइट सॉस में परंपरागत रूप से मक्खन और दूध जैसे डेयरी उत्पाद शामिल होते हैं, जो इसे गैर-डेयरी विकल्पों के साथ संशोधित किए जाने तक शाकाहारी लोगों के लिए अनुपयुक्त बनाते हैं।

ठंडे और गर्म व्यंजनों में उपयोग (Usage in cold and hot dishes)

मियोनीज़ का मुख्य रूप से ठंडे व्यंजनों में उपयोग किया जाता है, जैसे कि सलाद और सैंडविच, ड्रेसिंग या स्प्रेड के रूप में।

व्हाइट सॉस बहुमुखी है और इसे पास्ता, कैसरोल और ग्रैटिन सहित ठंडे और गर्म दोनों तरह के व्यंजनों में इस्तेमाल किया जा सकता है।

पोषण सामग्री
(Nutritional content)

तेल सामग्री के कारण मियोनीज़ में ज्यादा फैट और कैलोरी होती है।

यदि फुल फैट वाले डेयरी उत्पादों के साथ बनाया जाए तो सफेद सॉस भी फैट से भरपूर हो सकता है, लेकिन कम फैट वाले दूध या वैकल्पिक दूध विकल्पों का उपयोग करके हल्का संस्करण बनाया जा सकता है।

सर्विंग तापमान
(Serving temperature)

मियोनीज़ को आमतौर पर ठंडा या रूम टेम्परेचर पर परोसा जाता है।

व्हाइट सॉस आमतौर पर गुनगुना या गर्म परोसा जाता है, क्योंकि इसे अक्सर पके हुए व्यंजनों में इस्तेमाल किया जाता है।

अम्लीय सामग्री
(Acidic content)

मियोनीज़ में सिरका या नींबू का रस जैसे अम्लीय तत्व होते हैं, जो इसके तीखे स्वाद में योगदान करते हैं।

व्हाइट सॉस में आमतौर पर अम्लीय घटक नहीं होते हैं, जो इसे एक हल्का स्वाद प्रदान करता है।

गाढ़ा करने वाला एजेंट (Thickening agent)

तेल और अंडे की जर्दी के पायसीकरण के कारण मियोनीज़ स्वाभाविक रूप से गाढ़ा हो जाता है।

मैदा मिलाने से व्हाइट सॉस गाढ़ी हो जाती है, जो रूक्स बनाता है और सॉस को अपनी वांछित स्थिरता प्राप्त करने की अनुमति देता है।

पाक परंपराएं
(Culinary traditions)

मियोनीज़ का उपयोग आमतौर पर पश्चिमी व्यंजनों में किया जाता है, विशेष रूप से सैंडविच, सलाद और डिप जैसे व्यंजनों में।

व्हाइट सॉस का उपयोग अक्सर यूरोपीय और अमेरिकी व्यंजनों में किया जाता है, खासकर क्लासिक फ्रेंच व्यंजनों में।

क्षेत्रीय विविधताएं
(Regional variations)

मियोनीज़ में उपयोग किए जाने वाले स्वादों और सामग्रियों के संदर्भ में क्षेत्रीय विविधताएँ हो सकती हैं, जैसे कि लहसुन, सरसों, या जड़ी-बूटियाँ मिलाना।

व्हाइट सॉस फ्रांसीसी व्यंजनों में एक मूलभूत घटक है और इसकी विविधताएं अक्सर विभिन्न व्यंजनों और क्षेत्रीय विशिष्टताओं में देखी जाती हैं।

निष्कर्ष (Conclusion Difference Between Mayonnaise and White Sauce)

अंत में, हालांकि मियोनीज़ और व्हाइट सॉस दोनों व्यंजनों को क्रीमी और रमणीय गुण प्रदान कर सकते हैं, उनमें अलग-अलग अंतर हैं जो उन्हें विभिन्न पाक अनुप्रयोगों के लिए उपयुक्त बनाते हैं। मियोनीज़, अपने तीखे स्वाद और गाढ़ेपन के साथ, सैंडविच, सलाद और ऐपेटाइज़र में स्प्रेड, ड्रेसिंग या डिप के रूप में काम आते है। दूसरी ओर, सफेद सॉस, अपने हल्के स्वाद और चिकनी बनावट के साथ, पास्ता व्यंजन, कैसरोल और ग्रैटिन के लिए एक बहुमुखी आधार के रूप में कार्य करता है।

मियोनीज़ और व्हाइट सॉस के बीच की असमानताओं को समझना हमें रसोई में सूचित विकल्प बनाने और हमारी पाक कृतियों को उन्नत करने में हमारी मदद करता है। तो चाहे आप एक ज़ायकेदार मसाला या मखमली सॉस की तलाश कर रहे हों, मियोनीज़ और व्हाइट सॉस अद्वितीय स्वाद और बनावट प्रदान करते हैं जो विभिन्न प्रकार के व्यंजनों का स्वाद बढ़ाते हैं।

हमे उम्मीद है इस पोस्ट से आप को मियोनीज़ और व्हाइट सॉस में अंतर (Difference Between Mayonnaise and White Sauce in Hindi) के बारे में पता चला होगा! अगर इसके बाद भी अगर आपके मन में कोई सवाल है तो मेरे कमेंट बॉक्स में आकर पूछे। हम आपके सवालों का जवाब अवश्य देंगे।

तब तक के लिए धन्यवाद और मिलते हैं अगले आर्टिकल में!

ऐसे और भी रोचक अन्तरो को जानने के लिए बने रहिये हमारे साथ antarjano.com पर।

Leave a Comment