Difference Between Modem and Router in Hindi

Difference Between Modem and Router in Hindi

Difference Between Modem and Router in Hindi – दोस्तों यदि आप इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो आप Modem और Router के बारे में जरूर जानते होंगे। यदि आप अपने घर पर एक स्थाई इंटरनेट कनेक्शन लगाते हैं तो ऐसे में आपको Modem और Router जैसे उपकरणों की आवश्यकता पड़ती है। तो दोस्तों यदि आप जानना चाहते हैं कि Modem और Router क्या होते हैं और Modem और Router में क्या अंतर है तो आज आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं।

तुलना सारणी

विवरणModem/मॉडेमRouter/राउटर
परिभाषामॉडेम एक ऐसा उपकरण है जो विद्युत सिग्नल को मॉड्यूलेट और डिमॉड्यूलेट करता है और इंटरनेट और घर / कार्यालय नेटवर्क के बीच एक डेडिकेटेड (समर्पित) कनेक्शन बनाए रखता है। राउटर एक नेटवर्किंग डिवाइस है जो कई उपकरणों को वायर्ड या वायरलेस नेटवर्क से कनेक्ट करने में सक्षम बनाता है।
ये कैसे काम करता है?यह एक सिग्नल मॉड्यूलेट और डिमोडुलेटर की तरह काम करता है, जिसमे यह विद्युत सिग्नल को मॉड्यूलेट करके डिजिटल सिग्नल में बदलता है और इसे कंप्यूटर पर भेजता है, और वहीँ ये सिग्नल को डिजिटल से एनालॉग में डिमोड्यूलेट करता है, और इसे इंटरनेट पर भेजता है। यह रूटिंग टेबल का पालन करके डेटा पैकेट को एक स्रोत से एक परिभाषित गंतव्य तक भेजता है या रूट करता है। यह कई नेटवर्क उपकरणों को नेटवर्क से जुड़ने में सक्षम बनाता है।
सुरक्षामॉडेम बिना किसी ऑथेंटिकेशन/प्रमाणीकरण (authentication) के डेटा ट्रांसमिट करता है; इसलिए यह सुरक्षित नहीं है।राउटर पासवर्ड के साथ पूर्ण सुरक्षा प्रदान करता है और किसी दिए गए नेटवर्क पर ट्रांसमिट करने से पहले प्रत्येक डेटा पैकेट की जांच करता है।
कौन से केबल उपयोग होती है? RJ45 केबल राउटर से कनेक्ट करने के लिए, और RJ11 केबल टेलीफोन लाइन से कनेक्ट करने के लिए उपयोग होती है। RJ45 केबल का उपयोग किया जाता है।
स्थिति (कहाँ लगाया जाता है)टेलीफोन लाइन और कंप्यूटर या राउटर के बीच मॉडेम लगाया जाता है। मॉडेम और अन्य नेटवर्किंग उपकरणों के बीच राउटर लगाया जाता है।
इन्टरनेट एक्सेस इंटरनेट का उपयोग करने के लिए एक मॉडेम का होना आवश्यक है क्योंकि यह इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर आईएसपी/ ISP को हमारे कंप्यूटर से जोड़ता है। हम राउटर का उपयोग किए बिना इंटरनेट का उपयोग कर सकते हैं।
मुख्य कामयह इंटरनेट से आई हुई सूचना को कंप्यूटर तक ले जाता है यह मॉडेम से नेटवर्क में सूचना वितरित करता है।
कितने डिवाइस कनेक्ट कर सकते है? इसे केवल एक डिवाइस से सीधे जोड़ा जाता है जो या तो कंप्यूटर या राउटर हो सकता है। राउटर ईथरनेट केबल या वाई-फाई का उपयोग करके कई नेटवर्क उपकरणों को जोड़ सकता हैं।
पोर्ट्सटेलीफोन लाइन/आईएसपी को जोड़ने के लिए दो पोर्ट और राउटर के लिए एक का उपयोग किया जाता है। पोर्ट्स की संख्या भिन्न हो सकती है, कम से कम, इसमें 2 से 4 पोर्ट्स हो सकते हैं।
OSI मॉडल की कौन सी ऑपरेटिंग लेयर पर कम करता हैयह OSI मॉडल के डेटा लिंक लेयर पर काम करता है।यह OSI मॉडल के फिजिकल, डेटा-लिंक और नेटवर्क लेयर्स पर काम करता है।

मॉडम क्या होता है?

What is Modem/Modem kya hota hai – दोस्तों मॉडम एक ऐसा उपकरण होता है जो आपके कंप्यूटर को इंटरनेट से जोड़ने का कार्य करता है। ज्यादातर मामलों में आपका इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर (ISP – Internet Service Provider) द्वारा आपको मॉडम दिया जाता है क्योंकि इसके इस्तेमाल के लिए तारों की सहायता ली जाती है। यह तारें आपके ISP द्वारा आपके घर तक लायी जाती है। 

एक मॉडम आपके कम्प्युटर के digital signal को टेलीफ़ोन के analog signal में, और टेलीफ़ोन के analog signal को कम्प्युटर के digital signal में परिवर्तित करने के लिए उपयोग होता है। दोस्तों यदि आपके पास केवल एक ही कंप्यूटर है जिससे आप इंटरनेट से जुड़ना चाहते हैं तो आपको केवल मॉडम की आवश्यकता पड़ती है। लेकिन यदि आपके पास एक से अधिक उपयोगकर्ता है जो इन्टरनेट से अपने कंप्यूटर या मोबाइल कनेक्ट करना चाहते है, तो आपको राउटर की आवश्यकता पड़ेगी।

मॉडेम के प्रकार?

Types of Modem – मॉडम को कई प्रकार से विभाजित किया जा सकता है। यदि उन्हें उनके कंप्यूटर से जोड़े जाने के प्रकार के आधार पर विभाजित किया जाए तो मॉडर्न दो प्रकार के होते है। External Modem और Integrated Modem.

यदि उन्हें उनकी सिग्नल हस्तांतरित करने की क्षमता के आधार पर विभाजित किया जाए तो वह दो प्रकार के हो सकते हैं: Half duplex modem और Full duplex modem.

यदि उन्हें उनके तारों से जुड़ने के माध्यम के आधार पर विभाजित किया जाए तो ने दो भागों में विभाजित किया जा सकता है: 2-wire modem और  4-wire modem.

यदि उन्हें उनके ट्रांजिशनल मोड के आधार पर विभाजित किया जाए तो वह दो भागों में विभाजित किए जा सकते हैं: asynchronous modem और synchronous modem.

राउटर क्या होता है?

What is Router/Router kya hota hai – दोस्तों राउटर एक ऐसा उपकरण होता है जो Modem द्वारा प्राप्त डाटा को एक से अधिक कम्प्युटर में सांझा करने की सुविधा प्रदान करता है। यह प्रक्रिया Wi-Fi के जरिए होती है। यह राउटर, मॉडम से जुड़ा हुआ होता है और उससे प्राप्त डाटा को अनेक उपयोगकर्ता तक पहुंचाता है। इसका मुख्य कार्य विभिन्न प्राकर के Network Connections को आपस में जोड़ना होता है। राउटर Data Packet का निर्धारण करता है और इसको कम्प्युटर तक पहुँचाने के लिए इसका मार्ग निर्धारित करता है। आप पढ़ रहे है – Difference Between Modem and Router in Hindi

राउटर के प्रकार?

Types of Router/Router ke Prakar – राउटर को भी कई प्रकार से विभाजित किया जा सकता है। यदि इसे मॉडम के साथ जिदने की प्रक्रिया के अदाहर पर विभाजित किया जाए तो यह मुख्य रूप से दो प्रकार का होता है: Wired router और Wireless router.

यदि इसे इसकी डाटा शेर करने की क्षमता के आधार पर विभाजित किया जाए तो यह दो प्रकार का होता है। Core router और  Edge router.

Modem vs Router

मुख्य अंतर

Main difference between modem and router – मॉडेम और राउटर में मुख्य अंतर निम्नलिखित है –

  1. मॉडेम विद्युत सिग्नल को मॉड्यूलेट और डिमॉड्यूलेट करता है और इंटरनेट और घर तक पहुँचाता है, वही राउटर जो कि एक नेटवर्किंग डिवाइस है जो कई उपकरणों को वायर्ड या वायरलेस नेटवर्क से कनेक्ट करता है।
  2. मॉडेम बिना किसी ऑथेंटिकेशन/प्रमाणीकरण (authentication) के डेटा ट्रांसमिट करता है, वही राउटर पासवर्ड के साथ पूर्ण सुरक्षा प्रदान करता है और किसी दिए गए नेटवर्क पर ट्रांसमिट करने से पहले प्रत्येक डेटा पैकेट की जांच करता है।
  3. मॉडेम टेलीफोन लाइन और कंप्यूटर या राउटर के बीच लगाया जाता है। जबकि राउटर मॉडेम और अन्य नेटवर्किंग उपकरणों के बीच लगाया जाता है।
  4. मॉडेम को कनेक्ट करने के लिए RJ45 और RJ11 केबल उपयोग होती है, वहीँ राउटर के लिए सिर्फ RJ45 ही पर्याप्त है।
  5. इंटरनेट का उपयोग करने के लिए एक मॉडेम का होना आवश्यक है जबकि हम राउटर का उपयोग किए बिना भी इंटरनेट का उपयोग कर सकते हैं।
  6. मॉडेम को केवल एक डिवाइस से सीधे जोड़ा जाता है वो या तो कंप्यूटर या राउटर हो सकता है। जबकि राउटर ईथरनेट केबल या वाई-फाई का उपयोग करके कई नेटवर्क उपकरणों को जोड़ सकता हैं।

हमारे दुसरे आर्टिकल भी पढ़े – Difference Between CT Scan and MRI in Hindi

निष्कर्ष

Conclusion – दोस्तों यदि साधारण शब्दों में कहा जाए तो मॉड़म एक ऐसा उपकरण होता है जिसका मुख्य कार्य ISP को राउटर या कम्प्युटर से जिदना होता है। और राउटर का मुख्य कार्य डाटा को उपयोहकर्ता तक हस्तांतरित करता होता है। यदि आप एक ही कम्प्युटर पर इंटरनेट चलना चाहते है तो मॉडम द्वारा चला सकते है लेकिन यदि आप अनेक कम्प्युटर में इंटरनेट चलाना छाते है तो आपको एक राउटर की आवश्यकता पड़ती है।

उम्मीद करत हूँ की आप Mode और Router क्या होता है और Modem और Router में क्या अंतर है के बारे में जान गए होंगे। यदि हमारे आर्टिकेल से जुड़ा कोई भी सवाल आपके मन में है तो आप हमसे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते है। हम जल्दी से जल्दी आपके सवाल का जवाब देने का प्रयास करेंगे।

Leave a Comment